Menu

 


गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, असम, मेघालय और उ. बंगाल में भारी बारिश

गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, असम, मेघालय और उ. बंगाल में भारी बारिश

गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, असम, मेघालय और उ. बंगाल में भारी बारिशनई  दिल्ली : मौसम विभाग ने गुजरात क्षेत्र में अगले तीन दिन के लिए भारी से बहुत भारी वर्षा की आशंका व्यक्त की है। इसके साथ ही इस पूरे सप्ताह कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक, प. बंगाल, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिज़ोरम और त्रिपुरा में भारी बारिश की आशंका भी जारी की गई है।

इस चेतावनी के कारण विभिन्न नदियों के जलस्तर में तेजी से वृद्धि होने की आशंका है। अगले 48 घंटों के दौरान नासिक, वलसाड और दमन व दीव के दमनगंगा बेसिन जलस्तर में तेजी से वृद्धि होगी। वर्तमान में वलसाड स्थित मधुबन बांध जलस्तर में वृद्धि होगी और भंडारण बढ़ेगा।

उ. कोंकण क्षेत्र में अत्यधिक वर्षा की चेतावनी के साथ-साथ एक दो स्थानों पर बहुत अधिक वर्षा और ज्वार-भाटा को देखते हुए शहरी क्षेत्र में बाढ़ की स्थिति हो सकती है।

पश्चिमी दिशा में बहने वाली नदियों की घाटी की स्थिति – अगले पांच दिन में बारिश की संभावना के चलते पश्चिमी घाट से निकलने वाली और अरब सागर में बहने वाली नदियों में तेज़ी से जल स्तर में वृद्धि हो सकती है। महाराष्ट्र में ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी, सिंधुदूर्ग तथा कर्नाटक में उत्तर कन्नड़, उडुपी और दक्षिण कन्नड जिलो में नदियों में तेजी से जलस्तर में वृद्धि होने के कारण राजमार्ग के किनारे पुराने पुलों और कोंकण रेलवे मार्ग में आवश्यक सावधानी बरते जाने की सलाह दी गई है।

कृष्णा और इसकी सहायक नदियों में महाराष्ट्र के सतारा, सांगली, कोल्हापुर,पुणे और शोलापुर जिलों के जलस्तर में वृद्धि हो सकती है। कृष्णा नदी की घाटी के अधिकतर बांधों में कम भंडारण होने होने के कारण महाराष्ट्र में बांध में जलस्तर में वृद्धि हो सकती है।

प. बंगाल और सिक्किम में तीस्ता और इसकी सहायक नदियों में जलपाईगुड़ी और कूचबिहार जिलों में जलस्तर में वृद्धि होने की आशंका है। सिक्किम और प. बंगाल में इन नदियों से जुड़े क्षेत्रों में आवश्यक सावधानी रखने की आवश्यकता है। अरुणाचल प्रदेश और असम के सियांग, पूर्वी और पश्चिमी केमांग, लखीमपुर, धीमाजी, जोरहाट, सोनितपुर, बारपेटा, चिरांग, गोपालपाढ़ा, बोंगिया, कोकराझाड़, दक्षिणी सालमाड़ा और धुब्री जिलों में अगले तीन से पांच दिन तक कड़ी निगरानी रखे जाने की सलाह दी गई है।

बराक नदी और असम के के काकर हेलाखंडी और करीमगंज जिले में इसकी सहायक नदियों तथा मनु, गुमटी, होरा और त्रिपुरा में इसकी सहायक नदियों में वर्षा की स्थिति पर जलस्तर में वृद्धि होने की आशंका है।

back to top

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.