Menu

 


दुश्मन का मुंह तोड़ने को होवित्जर और वज्र तोप हुई तैयार

दुश्मन का मुंह तोड़ने को होवित्जर और वज्र तोप हुई तैयार

दुश्मन का मुंह तोड़ने को होवित्जर और वज्र तोप हुई तैयारभारतीय सेना की मारक क्षमता बढ़ाने के लिए एक बड़ा कदम उठाते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण  ने होवित्जर, वज्र तोप तथा कई अन्य सैन्य संसाधन राष्‍ट्र को समर्पित किए।

155 एमएम वाली अत्याधिक हल्की ये हॉविजर तोपें भारत और अमरीका के बीच हुए रक्षा खरीद समझौते के तहत प्राप्त की गई हैं। इन तोपों की सबसे बड़ी खासियत इनका बेहद हल्का होना है जिससे इन्हें किसी भी तरह की भौगोलिक स्थितियों में आसानी से एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा सकता है।

होवित्जर के अलावा 10 वज्र तोपों की पहली खेप दक्षिण कोरिया से आयात की गई है। इन्हें देश में एलएंडटी कंपनी के सहयोग से विकसित किया जाएगा। बाकी 90 तोपें दक्षिण कोरिया के तकनीकी सहयोग से देश में ही बनाई जाएंगी। इनके भारतीय तोपखाने में शामिल होने से सेना की मारक क्षमता में एक बड़ा इजाफा हुआ है।

इन उपकरणों को तोपखाने में शामिल किए जाने के अवसर पर सेना की विभिन्न युद्धक प्रणालियों ने अपनी मारक क्षमता का भव्य प्रदर्शन किया।

Last modified onSaturday, 17 November 2018 12:38
back to top

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.