Menu

 

इस बार चांदी की पिचकारी से होली खेलेंगे योगी, गाली-गलौज की तो खैर नहीं!

इस बार चांदी की पिचकारी से होली खेलेंगे योगी, गाली-गलौज की तो खैर नहीं!

यूपी में इस बार होली को खास बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। लोक-लुभावन योजनाओं ओर स्कीमों की घोषणाओं के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चांदी की पिचकारी से होली खेलेंगे, गुलाल और इत्र के पैकेट बांटे जाएंगे और तथा गोवर्धन ड्रेन के किनारों पर रंगोलियां सजाई जाएंगी। साथ ही, आयोजन में परंपरानुसार नन्दगांव तथा बरसाना निवासियों द्वारा की जाने वाली गाली-गलौज पर रोक लगाई जाएगी। पुलिस ऐसे लोगों के साथ कड़ाई से पेश आएगी।

इस बार होली को यादगार बनाने के उद्देश्य से बरसाना में बृहद स्तर पर आयोजन होंगे। इस संबंध में यहां रंगीली महल में एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई। इसमें प्रदेश के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 24 फरवरी को होली मनाने के लिए बरसाना आएंगे, जहां वह फूल तथा गुलाल की होली देखेंगे। हेलीकॉप्टर से राधाकृष्णजी को उतारकर मुख्यमंत्री आरती करेंगे। राधाबिहारी इण्टर कॉलेज में कार्यक्रम, गौशाला का निरीक्षण, समाज गायन, ध्वजा पूजन तथा होली चबूतरा से होली कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे। उन्होंने बताया कि होली पर समाज गायन की भाषा पांच हजार वर्ष पुरानी है जिसमें ध्वजा पूजन भी होता है। इन सभी कार्यक्रमों मुख्यमंत्री मौजूद रहेंगे।

सांसद हेमा मालिनी ने बताया कि होली उत्सव को भव्य बनाने की दिशा में पूरे प्रयास किए जा रहे हैं और यह आयोजन ऐतिहासिक होगा उसी के साथ दो दिवसीय कार्यक्रम मथुरा में भी आयोजित किया जाएगा।

बैठक में उपस्थित ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकान्त मिश्र ने बताया कि आजादी के 70वें साल में ब्रज क्षेत्र में होली का आयोजन एतिहासिक होगा। इसमें भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति प्रत्यक्ष रूप से देखने को मिलेगी।

पर्यटन महानिदेशक अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि इस आयोजन से पर्यटन क्षेत्र को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी।

Last modified onTuesday, 26 December 2017 20:46
back to top

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.