Menu

 


‘निपाह’ से स्वयं को ऐसे करें सुरक्षित...

‘निपाह’ से स्वयं को ऐसे करें सुरक्षित...

Vaccine To Be Developed For Deadly Nipah, Hendra Virusesखतरनाक वायरस ‘निपाह’ तेजी से पूरे देश में फैल रहा है। फिलहाल इसका कोई इलाज नहीं है हालांकि कुछ विदेशी संस्थानों में इसका टीका खोजने पर अनुसंधान शुरू हो चुका है।

पढ़ें : Vaccine To Be Developed For Deadly Nipah, Hendra Viruses

इस विषाणु से संक्रमित मरीज 24 घंटे के अंदर ‘कोमा’ में चला जाता है। यह बीमारी संक्रमणग्रस्त सुअरों और चमगादड़ों द्वारा फैल रही है।

बुखार, सिरदर्द, दिमागी संदेह (भ्रम), उल्टियां, मांसपेशियों में दर्द, निमोनिया, हल्की बेहोशी या दिमागी सूजन इस संक्रमण के प्रमुख लक्षण हैं।

स्वयं को सुरक्षित रखने के लिए सुअरों और चमगादड़ों से दूर रहें। ऐसे फल न खाएं, जिन्हें पक्षियों ने काटा हो। फलों को बहुत सावधानी से खरीदें और बाहर के खुले में मिलने वाले जूस का सेवन जरा भी न करें। खजूर न खाएं। चमगादड़ों के आवास के आस-पास भी न जाएं। कोई भी यात्रा अत्यावश्यक हो तो ही करें, संभव हो तो न ही करें। चूंकि यह विषाणु अत्यधिक संक्रामक है, इसीलिए बाहर का कुछ भी न खाएं और न पिएं। चूंकि, यह सुअरों से भी फैलता है, इसीलिए मांसाहार से भी बचें और ऐसी जगहों से भी, जहां मांसाहार का क्रय-विक्रय होता है। अगर कोई भी व्यक्ति संक्रमित होता है तो तुरंत उसे ‘इंटेंसिव केअर’ दें और उनके इस्तेमाल की किसी भी वस्तु को सबसे अलग रखें।

ध्यान रखें कि जैव श्रृंखला में प्रवेश करने वाला यह नवीनतम वायरस है। इसकी वैक्सीन और दवाइयां अभी प्रयोग के स्तर पर ही हैं। सघन चिकित्सा के अलावा इसका फिलहाल कोई भी इलाज उपलब्ध नहीं है।

Last modified onSaturday, 26 May 2018 19:08
back to top

loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.